(रजिस्ट्रेशन) मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन, UP Bal Seva Yojana

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2023 Online Apply | उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना लाभ तथा पात्रता, शासनादेश देखें |

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के माध्यम से मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2023 का शुभारंभ 30 मई 2021 को किया गया है इस योजना के अंतर्गत उन सभी नागरिकों को मदद प्रदान की जाएगी जिनके माता-पिता की मृत्यु कोविड-19 के समय में हुई है covid-19 महामारी में अनाथ हुए सभी बच्चों को यूपी सरकार के द्वारा से शिक्षा से लेकर विवाह तक का खर्च योजना के अंतर्गत वहन किया जाएगा बच्चों के लालन पोषण हेतु Mukhyamantri Bal Seva Yojana के तहत 4000 रुपये की आर्थिक मदद राशि विवरण की जाएगी तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से यह योजना से संबंधित सभी जानकारी विवरण करेंगे तथा आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2023

कोविड-19 महामारी में अनाथ हुए बच्चों को मदद प्रदान करने हेतु उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम से मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ किया गया है इस योजना के अंतर्गत कोरोना महामारी में अपने अभिभावक को खोने वाले सभी बच्चों को आर्थिक मदद राशि के साथ-साथ उनकी शिक्षा और विवाह तक का खर्च योगी सरकार के माध्यम से उठाया जाएगा इस योजना के अंतर्गत अगर बच्चे की उम्र 10 साल से कम है और उनके अभिभावक नहीं है तो ऐसे बच्चों के लिए सरकार के माध्यम से राजकीय बाल गृह में आवासीय सुविधा विवरण की जाएगी साथ ही अनाथ बालिकाओं के लिए भी यह सुविधा उपलब्ध की गई है Mukhyamantri Bal Seva Yojana उन सभी बच्चों को टैबलेट, लैपटॉप वितरण किए जाएंगे जो स्कूल और कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना हाइलाइट्स

योजना का नामMukhyamantri Bal Seva Yojana
किसके माध्यम से आरंभ की गईउत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा से
उद्देश्यcovid-19 के समय में अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक मदद प्रदान करना
लाभार्थीकोविड-19 के समय में अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चे
साल2023
आर्थिक मदद4000 रुपये हर महीने
लाभशिक्षा एवं विवाह तक का खर्च सरकार के माध्यम से वाहन
आवेदन का प्रकारऑनलाइन या ऑफलाइन

6000 बच्चों को दिया जाएगा उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ

Mukhyamantri Bal Seva Yojana को covid-19 संक्रमण के कारण अपने माता-पिता या फिर दोनों में से किसी एक को खोने वाले बच्चों के लिए शुरू किया गया था इस योजना के द्वारा से बच्चों को ना सिर्फ आर्थिक मदद मुहैया करवाई जाती है बल्कि उनकी पढ़ाई से लेकर शादी तक का खर्च उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जाता है अब तक मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के द्वारा से 6000 बच्चों को फायदा पहुंचा दिया गया है इस योजना का कार्यान्वयन महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किया जा रहा है सभी प्राप्त आवेदनों का सत्यापन करने के बाद महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम लाभार्थियों का चयन किया जाता है विभाग द्वारा दो हजार नए बच्चों को भी चयनित किया जा चुका है जिनको इस माह किस्त विवरण की जाएगी।

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

योजना के अंतर्गत लांच किया जाएगा एमआईएस पोर्टल

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि देश में covid-19 के कारण अनाथ हुए बच्चों का भरण पोषण, शिक्षा एवं चिकित्सा का ध्यान रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ किया गया था इस योजना के अंतर्गत विभाग की ओर से जमीनी स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं सरकार के माध्यम इस महीने Mukhyamantri Bal Seva Yojana का एमआईएस पोर्टल लांच करने का फैसला लिया गया है एमआईएस पोर्टल पर दो तरह की जानकारी उपलब्ध होगी जिसमें निरीक्षक महिलाओं तथा बच्चों की एवं मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लाभार्थियों की जानकारी होगी।

यूपी राज्य में इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत बच्चों की covid-19 की संख्या 11049 है UP Mukhyamantri Bal Seva Yojana सामान्य के अंतर्गत पंजीकृत बच्चों की संख्या 5200 है पंजीकृत बच्चों से संबंधित सभी जानकारी दो पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जाएगी जिसमें उनका पता स्वास्थ्य कार्ड योजना से लाभवंती होना और अन्य जानकारी शामिल है।

योजना के संचालन के लिए आरंभ किया जाएगा एमआईएस पोर्टल

यूपी सरकार के माध्यम से यूपी मिशन वात्सल्य के अंतर्गत बाल देखरेख संस्थाओं एवं किशोर न्याय बोर्ड एवं बाल कल्याण समितियों के लिए एमआईएस पोर्टल शुरू किया जाएगा यह पोर्टल जून 2023 में शुरू किया जाएगा इस पोर्टल के द्वारा से योजना से जुड़े सभी भौतिक एवं वित्तीय सूचनाएं ऑनलाइन प्रदान की जाएगी इसके अलावा योजना संचालन का प्रभावी पर्यवेक्षण व समीक्षा भी हो सकेगी इस पोर्टल पर बच्चों के स्वास्थ्य, शिक्षा एवं कौशल विकास से जुड़े डेटा का डिजिटाइजेशन किया जाएगा इसके अलावा एमआईएस पोर्टल के द्वारा से बच्चों की देखरेख, संरक्षण एवं पुनवर्सन प्रभावी रूप से हो सकेगा।

यह पोर्टल बाल कल्याण समिति एवं किशोर न्याय बोर्ड के कार्यों की प्रभावी समीक्षा करने में भी कारगर साबित होगा आने वाले 100 दिनों की कार्ययोजना महिला कल्याण और बाल विकास विभाग की ओर से तैयार कर ली गई है शाहजहांपुर में राजकीय संप्रेक्षण गृह का लोकार्पण किया जाएगा इस ग्रह के निर्माण में सरकार के माध्यम 7 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है जिसकी क्षमता 50 है। इस योजना के तहत covid-19 योजना में 11049 बच्चों को लाभान्वित किया गया है सामान्य योजना से कुल 5284, कोविड-19 योजना से 480 अनाथ बच्चे, माता-पिता वाले 10509 बच्चे, सामान्य योजना के कुल 295 अनाथ बच्चे, सामान्य योजना के तहत 4989 एकल माता-पिता वाले बच्चों को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ विवरण किया गया है।

 UP Rojgar Mela

UP Bal Seva Yojana में अनाथ हुई बालिकाओं को विवाह हेतु सहायता राशि

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक मदद राशि प्रदान करने हेतु यह योजना शुरू की गई है इसी के साथ उन सभी बालिकाओं को भी योजना के अंतर्गत विवाह हेतु मदद राशि विवरण की जाएगी जो कोरोनावायरस के समय में अनाथ हुई है बालिकाओं को विवाह हेतु आर्थिक मदद राशि प्रदान करने हेतु काम करने हेतु जनपदीय स्तर टास्क फोर्स का गठन किया गया है यह योजना के अंतर्गत शादी योग्य होने पर लाभार्थी बालिकाओं को 1 लाख 1 हजार रुपये की आर्थिक सहायता राशि वितरण की जाएगी बाल सेवा योजना के अंतर्गत लाभार्थी बालिकाओं को विवाह हेतु यह राशि आवेदन करने के 15 दिनों के भीतर आवेदन पत्र की जांच होने के उपरांत विवरण की जाएगी इस योजना के अंतर्गत मदद राशि प्रदान करने हेतु चयनित की गई सभी बालिकाएं एवं उनके अभिभावक सीधे संरक्षक इकाई से संपर्क कर सकते हैं।

विवाह हेतु आर्थिक मदद राशि लेने के लिए आवेदन

कोरोनावायरस महामारी की वजह से अनाथ हुई बालिकाओं को इस तरह से वित्तीय मदद राशि के लिए आवेदन करना होगा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत वह सभी बालिकाएं आवेदन कर सकती है जिनका विवाह 2 जून 2021 के पश्चात हुआ है विवाह होने के 3 महीने के अंदर सभी लाभार्थी बालिकाओं को वित्तीय मदद राशि का फायदा लेने के लिए आवेदन करना आवश्यक है इसके साथ ही सिर्फ वही बालिकाएं विवाह मदद राशि लेने के योग्य होगी जिनकी उम्र विवाह के वक्त 18 साल या उससे ज्यादा रही हो एवं लड़के की उम्र 21 साल रही हो मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के द्वारा सभी पात्र योग्य लड़कियों को योजना का फायदा प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन मोड में आवेदन करना होगा।

ग्रामीण क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले लाभार्थी आवेदन फॉर्म को संबंधित ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, विकासखंड या जिला प्रोबेशन अधिकारी के दफ्तर में जाकर जमा कर सकते हैं इसी के साथ शहरी क्षेत्र के लाभार्थी तहसील दफ्तर में अपने आवेदन फॉर्म को जमा कर सकते हैं।

बाल सेवा योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता राशि

Bal Seva Yojana के माध्यम से लाभार्थियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा से 4000 रुपये की आर्थिक मदद राशि विवरण की जाएगी यह मदद राशि अनाथ हुए बच्चे के लालन पोषण के लिए विवरण की जाएगी योजना के अंतर्गत यह सहायता राशि सरकार के माध्यम से तब तक वितरित की जाएगी जब तक बच्चा वयस्क ना हो जाए।

इसके साथ ही 10 साल से कम उम्र वाले उन सभी अनाथ बच्चों को रहने हेतु सुविधा प्रदान करने के लिए आवासीय सुविधा भी प्रदान की जाएगी राजकीय बाल गृह में बच्चों को आवास सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी इन बाल गृह में सभी लाभार्थी बच्चों की देखरेख की जाएगी उत्तर प्रदेश राज्य में अभी 5 राजकीय बाल गृह स्थित है जो राज्य के अलग-अलग जिलों में उपस्थित है मथुरा, लखनऊ, प्रयागराज, आगरा एवं रामपुर।

 उत्तर प्रदेश जनसुनवाई 

Mukhyamantri Bal Seva Yojana उद्देश्य

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का प्रमुख उद्देश्य है कि उन सभी बच्चों को मदद प्रदान करना जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है ऐसे बच्चों के हित के लिए योजना राज्य भर में जारी की गई है राज्य में बहुत से ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने कोविड-19 के समय में अपने माता-पिता को खोया है और उनकी देखभाल करने के लिए उनका किसी तरह का कोई सहारा नहीं है अनाथ हुए सभी बच्चों को योगी सरकार की इस योजना के अंतर्गत सभी तरह की मदद प्रदान की जाएगी जैसे कि शिक्षा के लिए सहायता, पालन पोषण के लिए सहायता तथा बालिकाओं के विवाह हेतु मदद राशि प्रदान की जाएगी हर महीने के अनुसार योजना के द्वारा से लाभार्थी बच्चों को 4000 रुपये की वित्तीय मदद राशि डीबीटी के अंतर्गत बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

योजना को बेहतर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा से उन सभी अनाथ बच्चों को भी योजना में शामिल करने का फैसला लिया गया है जिनके माता-पिता की मृत्यु अन्य कारणों से हुई है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी के माध्यम से 30 मई 2021 को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ किया गया है।
  • यह योजना के अंतर्गत राज्य के उन सभी बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा।
  • जिन्होंने कोविड-19 के समय में अपने माता-पिता को खोया है।
  • Mukhyamantri Bal Seva Yojana के तहत सभी लाभार्थी बच्चों को उनके भरण पोषण हेतु सरकार के द्वारा से 4000 रुपये की आर्थिक मदद राशि विवरण की जाएगी।
  • यह मदद राशि तब तक वितरण की जाएगी जब तक बच्चा वयस्क ना हो जाए।
  • अनाथ हुई बालिकाओं को इस योजना के अंतर्गत शादी के लिए 1 लाख 1 हजार की आर्थिक मदद राशि विवरण की जाएगी।
  • यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत लाभार्थी बच्चों को आर्थिक सहायता राशि देने के साथ-साथ शिक्षा एवं विवाह हेतु सहायता प्रदान की जाएगी।
  • अनाथ हुए उन सभी बच्चों को आवासीय सुविधा विवरण की जाएगी।
  • जिनके घर में देखरेख करने वाला कोई भी सदस्य उपस्थित नहीं है।
  • स्कूल तथा कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिए सरकार के माध्यम से योजना के तहत टैबलेट एवं लैपटॉप प्रदान किए जाएंगे।
  • बाल सेवा योजना का फायदा वह सभी बच्चे भी ले सकते हैं जिन्होंने अपने घर में आय अर्जित करने वाले सदस्य व्यक्ति को कोविड-19 के कारण खो दिया है।
  • उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत नाबालिग लड़कियों को सरकार के माध्यम से कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय और प्रदेश सरकार के द्वारा संचालित राजकीय बाल गृह अटल आवासीय विद्यालय के द्वारा से शिक्षा एवं आवास की सुविधा विवरण की जाएगी।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana की पात्रता (Eligibility)

  • Bal Seva Yojana के लिए सिर्फ उत्तर प्रदेश राज्य के स्थाई निवासी लोग आवेदन कर सकते हैं।
  • इस योजना हेतु सिर्फ वही बच्चे पात्र माने जाएंगे जिन्होंने कोविड-19 के कारण अपने माता-पिता को खोया है।
  • जैविक और कानूनी रूप से गोद लिए गए एक परिवार के बच्चे इस योजना का फायदा प्राप्त कर सकते हैं।
  • जिनके माता-पिता में से कोई एक जीवित था परंतु कोरोना की वजह से उनकी मृत्यु हुई है।
  • ऐसे बच्चे भी आवेदन करने के पात्र माने जाएंगे।
  • माता-पिता की मृत्यु के 2 साल के अंदर योजना में आवेदन किया जा सकता है।
  • यह योजना का फायदा आईटीआई प्रशिक्षुओं को भी प्रदान करने हेतु उपस्थित किया गया है।
  • 18 साल से कम उम्र वाले आईटीआई प्रशिक्षु जिसके अभिभावक की मृत्यु कोविड-19 के कारण हुई है।
  • योजना हेतु आवेदन कर सकते हैं।
  • मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास सभी प्रकार के दस्तावेज होने अनिवार्य है।

UP Scholarship

Bal Seva Yojana आवश्यक दस्तावेज

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • 2019 से मृत्यु का प्रमाण
  • बच्चे एवं अभिभावक की फोटोग्राफ
  • आय प्रमाण पत्र
  • शिक्षण संस्थान में रजिस्ट्रेशन से संबंधित प्रमाण
  • माता-पिता या फिर वेज संरक्षक का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • विवाह सहायता राशि लेने हेतु विवाह का कार्ड
  • परिवार रजिस्टर की नकल

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2023 आवेदन कैसे करें?

  • Bal Seva Yojana के तहत आवेदन करने के लिए लाभार्थियों को अपने क्षेत्र के अनुसार प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
  • शहरी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले आवेदनकर्ता को तहसील।
  • या फिर जिला प्रोबेशन अधिकारी के दफ्तर में जाना होगा।
  • इसी के साथ ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले आवेदनकर्ता को ग्राम पंचायत अधिकारी।
  • या विकासखंड के अंतर्गत आवेदन करना होगा।
  • अपने क्षेत्र के अनुसार दफ्तर में विजिट करके योजना में आवेदन करने के लिए फॉर्म प्राप्त करें।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करके फॉर्म में दी गई सभी आवश्यक जानकारी को दर्ज करें।
  • इसके पश्चात आवेदन पत्र के साथ मांगे गए सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करें।
  • संबंधित दफ्तर में आवेदन फॉर्म को जमा कराएं।
  • आवेदन पत्र की जांच सफल होने के 15 दिनों के बाद चयनित किए गए।
  • सभी लाभार्थियों को योजना का लाभ फायदा दिया जाएगा।

Leave a Comment