राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना शुरू हुई, बीज खरीदने पर किसानों को मिलेगा ट्रैक्टर

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana Kya Hai | किसान बीज उपहार योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करें | Rajasthan Free Tractor Yojana Apply Online

बीज खरीदने वाले किसानों के लिए राजस्थान सरकार द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना का नाम राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना है। जो 22 अक्टूबर 2022 को राजस्थान सरकार द्वारा विकसित की गई है। इस योजना के तहत बीज खरीदने वाले किसानों को राज्य के प्रत्येक जिले में लॉटरी के माध्यम से ट्रैक्टर प्रदान किया जाएगा। साथ ही बीज के थैले में एक कूपन उपलब्ध होगा। जिसके आधार पर विजेताओं को उपहार दिए जाएंगे। अगर आप भी राजस्थान के किसान हैं और Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana के माध्यम से ट्रैक्टर प्राप्त करना चाहते हैं। तो आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना क्या है, इसके उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं एवं आवेदन प्रक्रिया आदि से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana 2023

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना की घोषणा 22 अक्टूबर 2022 को राजस्थान के बीज निगम ने की है। इस योजना के तहत निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को प्रत्येक जिले में लॉटरी के माध्यम से एक एक ट्रैक्टर दिया जाएगा। निगम के अध्यक्ष धीरज गुर्जर ने बताया है कि Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana के लिए निगम द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले बीजों को वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किया गया है। साथ ही निगम उच्च गुणवत्ता के प्रमाणित बीज उत्पादन कर किसानों को उचित मूल्य पर ग्राम स्तर तक उपलब्ध करा रहा है। हर जिले में लॉटरी के जरिए ट्रैक्टर के अलावा किसानों को उपहार दिए जाएंगे। प्रत्येक जिले में 20 किसानों को बैटरी से चलने वाले स्प्रे और लगभग 30 किसानों को टॉर्च भी मिलेगी।।

राजस्थान ग्रामीण परिवार आजीविका ऋण योजना

राजीव गांधी किसान बीज योजना Key Highlights

योजना का नामRajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana
शुरू की गईराजस्थान बीज निगम द्वारा
लाभार्थीनिगम से बीज खरीदने वाले किसान
उद्देश्यकिसानों को लॉटरी के माध्यम से उपहार प्रदान करना
उपहार दिए जाएंगे51 उपहार प्रत्येक जिले में
साल2023
राज्यराजस्थान

बीज के थैले में मिलेगा कूपन

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के तहत निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को उपहार दिया जाएगा। निगम के अध्यक्ष धीरज गुर्जर ने बताया कि बीज के थैले में कूपन उपलब्ध रहेगा और उस कूपन के आधार पर विजेता को उपहार दिया जाएगा। राज्य के किसान बीज के थैले निगम से खरीदेंगे उन ही बीज के थैले में कूपन हो गए और इन्हीं कूपन के आधार पर लॉटरी निकाली जाएगी। जिस लॉटरी के जरिए राज्य के प्रत्येक जिले में एक किसान को ट्रैक्टर दिया जाएगा। साथ ही राज्य के प्रत्येक जिले में कूपन के आधार पर किसानों को 20 बैटरी चालित स्प्रे मशीन दी जाएगी और 30 किसानों को टॉर्च दी जाएगी।

पालनहार योजना राजस्थान

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana 2023 का उद्देश्य

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को लॉटरी के माध्यम से उपहार प्रदान करना है। तथा राज्य के सभी किसानों को उच्च गुणवत्ता के प्रमाणित बीज उचित मूल्य पर ग्राम स्तर तक उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत लॉटरी के माध्यम से राज्य के प्रत्येक जिले में किसानों को 51 उपहार दिए जाएंगे। ये उपहार किसानों को बीज के थैले में उपलब्ध एक कूपन के आधार पर प्राप्त होंगे। जिसमें किसानों को एक ट्रैक्टर इसके अलावा प्रत्येक जिले में 20 किसानों को बैटरी से चलने वाले स्प्रे और 30 किसानों को टॉर्च दी जाएगी। राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के माध्यम से राज्य के लगभग 1650 किसानों को उपहार दिए जाएंगे।

Rajasthan Free Tractor Yojana के अंतर्गत प्रत्येक जिले में मिलेंगे 51 गिफ्ट

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के तहत राजस्थान के किसानों को प्रत्येक जिले में 51 उपहार दिए जाएंगे। बीज के थैले में कूपन उपलब्ध होगा। इसी कूपन के आधार पर लॉटरी निकाली जाएगी और लॉटरी के जरिए प्रत्येक जिले में एक किसान को ट्रैक्टर दिया जाएगा। और साथ ही राज्य के प्रत्येक जिले में 20 किसानों को बैटरी से चलने वाले स्प्रे दिए जाएंगे। 30 किसानों को टॉर्च दी जाएगी। इस तरह मिलाकर प्रत्येक जिले में 51 उपहार किसानों को दिए जाएंगे। राजस्थान के लगभग 1650 किसानों को बैटरी से चलने वाले स्प्रे और टॉर्च दी जाएगी।

राजफैड शुरू करेगा खरीदारी

राजफैड की ओर से 27 अक्टूबर को सोयाबीन, मूंग, मूंगफली और उड़द की खरीदारी के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू कराया जाएगा। इसके अलावा राजस्थान के लगभग 879 केंद्रों पर सोयाबीन और उड़द की खरीद 1 नवंबर से शुरू की जाएगी। तो वही 18 नवंबर से मूंगफली की खरीद प्रारंभ होगी। राजस्थान के 879 केंद्रों पर राजफैड न्यूनतम समर्थन मूल्य पर इन सब उत्पादों की खरीद करेगा।

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana 2023 के लाभ एवं विशेषताएं

  • राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना की घोषणा 22 अक्टूबर 2022 को राजस्थान के बीज निगम ने की है।
  • इस योजना के तहत निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को प्रत्येक जिले में लॉटरी के माध्यम से एक एक ट्रैक्टर दिया जाएगा।
  • निगम के अध्यक्ष धीरज गुर्जर ने बताया है कि राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के लिए निगम द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले बीजों को वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किया गया है।
  • साथ ही निगम उच्च गुणवत्ता के प्रमाणित बीज उत्पादन कर किसानों को उचित मूल्य पर ग्राम स्तर तक उपलब्ध करा रहा है।
  • बीज के थैले में कूपन उपलब्ध होगा। इसी कूपन के आधार पर लॉटरी निकाली जाएगी और लॉटरी के जरिए प्रत्येक जिले में एक किसान को ट्रैक्टर दिया जाएगा।
  • हर जिले में लॉटरी के जरिए ट्रैक्टर के अलावा किसानों को 51 उपहार दिए जाएंगे।
  • प्रत्येक जिले में 20 किसानों को बैटरी से चलने वाले स्प्रे और लगभग 30 किसानों को टॉर्च भी मिलेगी।
  • राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के माध्यम से राज्य के लगभग 1650 किसानों को उपहार दिए जाएंगे।

राजस्थान तारबंदी योजना

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए राज्य के किसानों को किसी भी प्रकार का आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होंगी। क्योंकि इस योजना के तहत निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को बीज के थैले में एक कूपन प्राप्त होगा और उसी कूपन के आधार पर विजेता को ट्रैक्टर और बैटरी से चलने वाले स्प्रे तथा टॉर्च उपहार के रूप में दिए जाएंगे। राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको सिर्फ बीज निगम से बीज खरीदने होंगे। तभी आप इस योजना के माध्यम से ट्रैक्टर, बैटरी से चलने वाली स्प्रे मशीन एवं  टॉर्च उपहार के रूप में प्राप्त कर सकेंगे।

Leave a Comment