झारखंड बीज वितरण योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म, लाभ कैसे प्राप्त करें

Jharkhand Beej Vitran Yojana Registration 2023 | झारखंड बीज वितरण योजना ऑनलाइन पंजीकरण | बीज वितरण योजना आवेदन फॉर्म, लाभार्थी सूची, केंद्र

झारखंड बीज वितरण योजना का शुभारंभ झारखंड सरकार के माध्यम से किया गया है इस योजना के द्वारा से झारखंड के किसानों को वक्त पर धान की खेती करने के लिए उन्नत किस्म के बीज मिल सके इसलिए राज्य सरकार के माध्यम किसानों को अनुदानित दर पर बीज दिया जा रहा है कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही इस योजना का फायदा किसानों को सही तरीके से मिल सके इसलिए ब्लॉकचेन तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से Jharkhand Beej Vitran Yojana से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे तथा आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Jharkhand Beej Vitran Yojana

Jharkhand Beej Vitran Yojana 2023 क्या है?

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि खरीफ सीजन आने वाला है देश में बेहतर मानसून की भविष्यवाणी के पश्चात किसानों के चेहरे खिले हुए हैं सेंट्रल और स्टेट गवर्नमेंट इस सीजन में किसानों को फायदा देने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं भी चला रही है| झारखंड में भी किसानों को फायदा देने के लिए सब्सिडी पर बीज दिया जा रहा है सरकार ने राज्य के किसानों को आधे दाम पर धान के बीज देने का निर्णय किया है| बीज विनिमय एवं वितरण कार्यक्रम योजना के अंतर्गत किसानों को यह लाभ दिया जा रहा है|

इसके लिए Jharkhand Beej Vitran Yojana के तहत राज्य के किसानों को 50 फीसद के अनुदान पर बीज उपलब्ध कराए जा रहे हैं झारखंड बीज वितरण योजना से उन छोटे और सीमांत किसानों को फायदा होगा जो महंगी दर पर धान के बीज खरीद पाने में असमर्थ होते हैं या उन्हें परेशानी होती है।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना

Beej Vitran Yojana Highlights

योजना का नामझारखंड बीज वितरण योजना
किसके माध्यम से आरंभ की गईमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के माध्यम
उद्देश्यबीज पर सब्सिडी प्रदान करना
फायदा पाने वालेझारखंड राज्य के किसान
वर्ष2023
राज्यझारखंड
आवेदन का प्रकारऑनलाइन
आर्थिक सहायताकिसानों को 50 फीसद छूट पर मिलेगा धान का बीज
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लांच की जाएगी

11 मई से बीज वितरण कार्यक्रम होगा आरम्भ

झारखंड राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने बताया कि 11 मई से बीज वितरण कार्यक्रम शुरू होगा पिछले वर्ष की तरह मई के पहले हफ्ते से खरीफ का बीज बांटा जाएगा। कृषि मंत्री ने एक ऑडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि बीज वितरण कार्यक्रम के लिए कृषि विभाग ने पूरी व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए ब्लॉक चेंन सिस्टम बनाया है इसके लिए पोर्टल पर किसानों को पंजीकरण कराना होगा इसके पश्चात वह अपने बीज की स्थिति भी ऑनलाइन ट्रैक कर सकते हैं दोहरा फायदा से बचाव के लिए किसानों को आधार कार्ड जमा करना होगा उन्होंने कहा कि किसान वक्त से धान की बुआई तथा रोपाई कर अपने आप को और झारखंड राज्य को आर्थिक रूप से मजबूत बनाएं।

झारखण्ड फसल राहत योजना

Jharkhand Beej Vitran Yojana कृषि निदेशालय ने लागू किया आदेश

  • 50 फीसद अनुदान पर किसानों को बीज उपलब्ध करवाना
  • ई-तकनीक के द्वारा से पूरी प्रक्रिया पारदर्शी रहेगी
  • मई के प्रथम हफ्ते से खरीफ फसलों के बीज वितरण शुरू करने का लक्ष्य
  • रजिस्ट्रेशन के वक्त किसानों का फोन नंबर तथा आधार कार्ड वेबसाइट पर अपलोड करना जरूरी है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के द्वारा से खरीफ फसलों का बीज वितरण
  • 1.25 लाख क्विंटल बीज वितरण का लक्ष्य निर्धारित

किसानों को अनुदानित दर पर दिए जाएंगे बीज

सहभागी वैरायटी की धान अनुदानित दर पर किसानों को 1935 क्विंटल दिया जाएगा इसके साथ ही राजेंद्र मंसूरी धान आईआर-64 डीआरटी, एमटीयू-1010 तथा एमटीयू-1001 के बीज किसानों को अनुदानित दर पर 1935 रुपए प्रति क्विंटल दिया जाएगा वही डीआरआरएच-2 तथा डीआरआरएच-3 के बीच अनुदानित दर पर 10 हजार रुपये प्रति क्विंटल की दर से दिया जाएगा कृषि विभाग ने इस वर्ष 4 एजेंसियों को बीज वितरण करने के लिए सूचीबद्ध किया है विभाग ने नेशनल सीड कॉरपोरेशन, उत्तराखंड सीड एंड तराई डेवलपमेंट, उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम तथा नेशनल कोऑपरेटिव कंजूमर फेडरेशन ऑफ इंडिया, लिमिटेड को बीज आपूर्ति करने का आदेश दिया था।

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन

एफपीओ भी अनुदानित दर पर वितरित कर पाएंगे बीज

कृषि निदेशक निशा उरांव ने बताया कि झारखंड राज्य में बीज वितरण में बिचौलियों की भूमिका को खत्म करने के लिए ब्लॉकचेन तकनीकी का प्रथम बार प्रयोग किया गया है इसके माध्यम से किसान अपने बीज को ट्रैक कर सकते हैं इसके साथ ही पहली बार राज्य के एफपीओ को भी बीज वितरण करने का लाइसेंस दिया गया है एफपीओ को भी 50% अनुदान पर बीज दिया जाएगा यह योजना के अंतर्गत फायदा लेने के लिए किसान प्रखंड के प्रखंड कृषि पदाधिकारी, बीटीएम, एटीएम वी एल डब्ल्यू एवं कृषक मित्र से संपर्क कर सकते हैं इसके तहत निबंधित करने के किसानों को आधार कार्ड नंबर और फोन नंबर देना पड़ेगा।

किसान ट्रैक कर सकेंगे अपना बीज

यह तकनीक के द्वारा से पोर्टल पर पंजीकरण कराने के पश्चात किसान भाई देख पाएंगे कि उनका बीज कहां से निकला है और कहां तक पहुंचा है उन्हें यह खबर मिल पाएगी कि उनके पास बीज कब तक पहुंच पाएगा इस आधार पर किसान अपने खेत तैयार कर सकेंगे साथ ही यह तकनीक यह भी सुनिश्चित करेगी की किसी भी किसानों को योजना का दोहरा फायदा नहीं मिल पाए इस वर्ष 1.25 लाख क्विंटल धान के बीज वितरित करने का लक्ष्य रखा गया है।

झारखंड बीज वितरण योजना उद्देश्य (Objective)

Jharkhand Beej Vitran Yojana का प्रमुख उद्देश्य है कि किसानों की आर्थिक सहायता करना है इस योजना के द्वारा से सरकार के माध्यम किसानों को खरीफ फसलों के बीज 50 फीसद अनुदान पर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं जिससे कि किसानों की आय में वृद्धि होगी यह योजना किसानों को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए कारगर साबित होगी इस योजना के अंतर्गत सरकार के माध्यम आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन रखी गई है झारखंड राज्य के किसानों को आवेदन करने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी वह घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के द्वारा से इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं इससे समय और पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी।

 Minimum Support Price

Jharkhand Beej Vitran Yojana के लाभ और विशेषताएं

  • झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के माध्यम से झारखंड के किसानों की आर्थिक सहायता करने के लिए यह योजना का आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के द्वारा से सरकार किसानों को आधे दाम पर धान का बीज विवरण कर रही है।
  • बीज विनमय एवं वितरण कार्यक्रम योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों को खरीफ फसलों के बीज 50% अनुदान पर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान भाई, बहन अपने जिले के कृषि विभाग या पैक्स से संपर्क कर सकते हैं।
  • झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने बताया कि मई के पहले हफ्ते से बीज वितरण कार्यक्रम शुरू होगा पिछले वर्ष की तरह मई के पहले हफ्ते से खरीफ का बीज बांटा जाएगा।
  • इस योजना के द्वारा से किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • यह योजना किसानों को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने में भी कारगर साबित होगी।
  • jharkhand Beej Vitran Yojana का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको जल्द से जल्द रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपको किसी भी सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।
  • आप घर बैठे ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • इस समय और पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी।

Jharkhand Beej Vitran Yojana आवश्यक दस्तावेज और पात्रता

  • आवेदक झारखंड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक किसान होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण

कृषि उड़ान योजना

झारखंड बीज वितरण योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

अभी झारखंड सरकार माध्यम के से केवल Jharkhand Beej Vitran Yojana का शुभारंभ करने की घोषणा की गई है जल्द ही झारखंड सरकार इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट आरम्भ करेगी जैसे ही सरकार के द्वारा से इस योजना के अंतर्गत आवेदन से संबंधित कोई भी जानकारी विवरण की जाती है तो हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से जरूर सूचित करेंगे तथा आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल से जुड़े रहे।

Leave a Comment