गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना |MMY| 2023: उद्देश्य, लाभ, पात्रता व आवेदन प्रक्रिया

Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana Application Form 2023 | मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना आवेदन प्रक्रिया, पंजीकरण फॉर्म, पात्रता | गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन |

हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री श्री माननीय नरेंद्र मोदी जी के माध्यम से गुजरात के वडोदरा में 18 जून को गुजरात गौरव अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया है जिसमें प्रधानमंत्री द्वारा विभिन्न विभागों की 21000 करोड़ रुपए से अधिक की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यव्यापी गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना (एमएमवाई) 2023 का शुभारंभ करेंगे। तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana से संबंधित सभी जानकारी को प्रदान करेंगे तथा आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana

Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana 2023

गुजरात सरकार के माध्यम से मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना की घोषणा महिलाओं के गर्भावस्था के समय से 1000 दिनों तक माताओं और बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने और उनके पोषक स्तर में सुधार लाने के उद्देश्य से की गई है इसके साथ ही राज्य में सभी आदिवासी तालुकों में पोषण सुधार योजना आरम्भ की जाएगी योजना के तहत आदिवासी क्षेत्रों की महिलाओं को शामिल किया जाएगा। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि इस अवस्था के दौरान मां के आहार में भोजन और प्रोटीन वसा के साथ-साथ अन्य सूक्ष्म पोषक तत्व उपलब्ध हो इसी को ध्यान में रखते हुए गुजरात सरकार ने इन 1000 दिनों के दौरान गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के लक्ष्य से गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना को मंजूरी दी है।

Gujarat Vidhva Sahay Yojana 

गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना Highlights

योजना का नामGujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana
किसके माध्यम से आरंभ की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के माध्यम
उद्देश्यगर्भावस्था से लेकर मातृत्व के पहले 1000 दिनों तक माता और शिशु दोनों को पोषण युक्त आहार उपलब्ध कराना
फायदा पाने वालेगर्भवती, स्तनपान महिला
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन या ऑफलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी

रोपवे के माध्यम से पावागढ़ मंदिर भी जाएंगे 3 दिन मंदिर रहेगा बंद

आगामी 18 जून को हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री श्री माननीय नरेंद्र मोदी जी पावागढ़ में विकास कार्यों का लोकार्पण के लिए पधार रहे है जिसे लेकर 16 जून की दोपहर 12:00 से 18 जून की दोपहर 3:00 बजे तक पावागढ़ मंदिर दर्शन के लिए बंद रखने का फैसला मंदिर ट्रस्ट की ओर से लिया गया है प्रधानमंत्री मोदी मालवाहक रोप-वे में जा सकते हैं जिसके लिए चार ट्रॉली बनाने का भी काम चल रहा है पावागढ़ मंदिर ट्रस्ट के सेक्रेटरी अशोक पंड्या ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी वडा तालाब से मांची तक सड़क मार्ग से आएंगे और उसके बाद रोप-व के माध्यम से मंदिर पहुंचेंगे।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

Mukhyamantri Matrushakti Yojana का उद्देश्य

Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana 2023 का प्रमुख उद्देश्य है कि महिलाओं की गर्भावस्था से लेकर मातृत्व के पहले 1000 दिनों तक माता और शिशु दोनों को पोषण युक्त आहार उपलब्ध कराने तथा उनकी पोषण की स्थिति में सुधार लाने के उद्देश्य से गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना की घोषणा की गई है। दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे भारत देश में कई ऐसे गरीब नागरिक हैं जिनके पास खाने-पीने तक के लिए भी पैसे नहीं होते और गर्भधारण के समय भी उनकी देखभाल नहीं हो पाती और बच्चे के जन्म के समय उन्हें सही से खाना तक नहीं मिल पाता जिसके कारण मां और बच्चे दोनों कुपोषण का शिकार हो जाते हैं इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार ने इस योजना को आरंभ किया है जिससे महिलाओं की देखभाल और खान-पान का ध्यान रखा जाए।

क्या है मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना

माता का खराब पोषण स्तर गर्भ में मौजूद बच्चे भ्रूण के विकास को बाधित करता है जो आगे चलकर बच्चे खराब स्वास्थ्य की वजह बनता है गर्भवती माताओं में कुपोषण और एनीमिया बच्चे की वृद्धि और विकास पर गंभीर प्रभाव डालता है महिला के गर्भकाल के 270 दिन और बच्चे के जन्म से 2 साल तक के 730 दिन यानी कुल 1000 दिनों की अवधि को स्वास्थ्य विंडो ऑफ अपॉर्चुनिटी कहा जाता है इस समय के दौरान माता और बच्चे के पोषण स्तर को सुदृढ़ बनाना आवश्यक है इस विषय के महत्व को समझते हुए भारत सरकार के पोषण अभियान के अंतर्गत माता और बच्चे के इन 1000 दिनों पर ध्यान केंद्रित करने को कहा गया है इसके तहत यह सुनिश्चित किया जाएगा कि माता और बच्चे को स्वस्थ आहार मिल सके।

Mukhyamantri Matrushakti Yojana के लाभ

  • इस योजना से मां और बच्चे की पोषण स्थिति में सुधार होगा।
  • अपर्याप्त महीनों के परिणाम स्वरूप कम वजन वाले बच्चों के जन्म और पूरी तरह से स्वस्थ बच्चों के जन्म की संख्या में कमी आएगी।
  • साथ ही मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी।
  • साल 2022-23 में सभी प्रथम गर्भवती और प्रथम प्रसूता माता तथा स्वास्थ्य विभाग के सॉफ्टवेयर में गर्भवती के तौर पर या जन्म से 2 साल के बच्चे की माता के रूप में पंजीकृत लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना के अंतर्गत प्रत्येक लाभार्थी को आंगनबाड़ी केंद्र से राशन के रूप में हर महीने 2 किलो चना, 1 किलो अरहर दाल और 1 लीटर मूंगफली का तेल देने का फैसला किया गया है।
  • राज्य सरकार ने इस योजना के लिए चालू वर्ष के बजट में 811 करोड रुपए की बड़ी रकम का प्रावधान किया है।
  • वही अगले पांच वर्ष के लिए 4000 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम का प्रावधान किया जाएगा।
  • इस योजना से माता और बच्चे की पोषण की स्थिति में सुधार होगा।

Mukhyamantri Mahila Utkarsh Yojana 

गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना की पात्रता

  • लाभार्थी योजना के अंतर्गत एक बार ही पात्र मानी जाएगा।
  • नौकरी कर रही महिलाएं इस योजना की पात्र नहीं मानी जाएगी।
  • आवेदक का बैंक खाता होना अनिवार्य है जो कि आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

Mukhyamantri Matrushakti Yojana आवश्यक दस्तावेज

  • राशन कार्ड
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता-पिता दोनों का आधार कार्ड
  • बैंक खाते की पासबुक
  • माता-पिता दोनों का पहचान पत्र

Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana में आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
Gujrat Mukhyamantri Matrushakti Yojana
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद सर्विस के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • यहां पर आपको स्वयं रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • एक नया रजिस्ट्रेशन फॉर्म आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
गुजरात मुख्यमंत्री मातृशक्ति योजना
  • इसमें आपको अपनी सभी जरूरी जानकारी प्रदान करनी है
  • इसके पश्चात अंत में आपको रजिस्टर का ऑप्शन पर क्लिक करना है

Leave a Comment