झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन फार्म

Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana Application Form 2023 | झारखण्ड बाबा साहब भीमराव अंबेडकर आवास योजना आवेदन फॉर्म, लाभ एवं पात्रता

तूफान और ओलावृष्टि के कारण ग्रामीण इलाकों में जो मकान ध्वस्त हो गए थे उन परिवारों के लिए झारखंड सरकार द्वारा एक नई योजना का आरंभ किया गया है। प्राकृतिक आपदा के कारण ध्वस्त हुए मकान में रहने वाले उन सभी परिवारों को सहायता पहुंचाने के लिए झारखंड सरकार द्वारा Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का आरंभ किया गया है। इस योजना के तहत उन सभी परिवारों को पक्के मकान बनवा कर दिए जाएंगे जिनके घर तूफान और ओलावृष्टि के कारण ध्वस्त हो गए हैं। अगर आप भी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस योजना के बारे में जानकारी होनी जरूरी है कि झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना क्या है, इस योजना के उद्देश्य, लाभ, पात्रता, मुख्य दस्तावेज तथा इस योजना का आवेदन किस प्रकार किया जा सकता है। हम आपको इस लेख में सभी जानकारी देंगे।

Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana 2023

झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में निवास करने वाले सभी परिवारों को आवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिन लोगों के मकान तूफान और ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गए हैं। इसके अलावा आपदा से प्रभावित परिवारों के साथ विधवा महिला एवं बेसहारा महिलाओं को भी लाभ प्रदान किया जाएगा। आवास योजना के तहत लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए सरकार द्वारा 95 दिन की मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी एवं 1 लाख 30 हजार रुपए आवास निर्माण के लिए दिए जाएंगे। लाभार्थियों को आवास की राशि सीधे उनके बैंक खाते में वितरित कर दी जाएगी। आवास निर्माण की राशि तीन किस्तों में प्रदान की जाएगी। योजना के अंतर्गत पहली किस्त में 40,000 रुपए, दूसरी किस्त में 85,000 रुपए एवं तीसरी किस्त में 50,000 राशि का भुगतान लाभार्थियों को किया जाएगा। 

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना

झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना Key Highlights

योजना का नामझारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना
आरंभ की गईझारखण्ड
उद्देश्यआवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
लाभार्थीझारखण्ड के नागरिक
आवेदनOnline
अधिकारिक वेबसाइटजल्द लांच होगी
राज्यझारखण्ड
साल2023

Bhimrao Ambedkar Awas Yojana: 12 महीने की अवधि के अंतर्गत आवास निर्माण पूर्ण करना होगा

झारखण्ड के जिन नागरिकों को सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी उन सभी लाभार्थी को वित्तीय सहायता प्राप्त होने की तिथि से 12 महीने की अवधि के अंतर्गत आवास निर्माण कार्य पूर्ण करना होगा। योजना को संचालित करने के लिए झारखण्ड के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सभी उपायुक्त और विकास आयुक्त को दिशा निर्देश दिए जा चुके हैं। लाभार्थियों की पहचान सभी उपायुक्त को अपने जिले में करनी होगी। सभी उपायुक्त को लाभार्थियों की पहचान करने के बाद सूची तैयार करके मुख्यालय भेजनी होगी। झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के अंतर्गत पूर्वी सिंहभूम के पोटका प्रखंड सभागार में 35 लाख लाभुकों को स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

PMAY Gramin List

लाभार्थियों को अन्य लाभ प्रदान किए जाएंगे

  • प्रधानमंत्री उज्जवल योजना के अंतर्गत नि:शुल्क गैस कनेक्शन
  • स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय निर्माण
  • दीनदयाल उपाध्याय कुटीर ज्योति योजना/सौभाग्य योजना के अंतर्गत नि:शुल्क बिजली कनेक्शन

Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के उद्देश्य

झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी परिवारों को आवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है जिन परिवारों का घर प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त हो गया है तथा इसी के साथ बेसहारा महिलाओं और विधवा महिलाओं को मकान निर्माण के लिए सरकार द्वारा 1 लाख 30 हजार रुपए  प्रदान करना है। आवास निर्माण के लिए झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के अंतर्गत 3 किस्तों में आवास निर्माण की राशि लाभार्थी के खाते में वितरित की जाएगी ताकि प्राकृतिक आपदा के कारण ध्वस्त हुए  मकान का पुनर्निर्माण किया जा सके। झारखण्ड के ग्रामीण इलाकों में रह रहे नागरिकों के जीवन स्तर में इस योजना के माध्यम से सुधार आएगा।

झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का शुभारंभ झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा किया गया है।
  • झारखण्ड के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी परिवारों को लाभ प्रदान किया जाएगा जिनका घर तूफान और ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गया है।
  • बेसहारा महिलाओं और विधवा महिलाओं को भी योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • लाभार्थी को इस योजना के अंतर्गत 95 दिन की मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी एवं 1 लाख 30 हजार रुपए मकान निर्माण के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • योजना के अंतर्गत आवास निर्माण की राशि तीन किस्तों में प्रदान की जाएगी।
  • लाभार्थी को योजना के अंतर्गत पहली किस्त में 40,000 रुपए, दूसरी किस्त में 85,000 रुपए एवं तीसरी किस्त में 50,000 राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • लाभार्थी को वित्तीय सहायता प्राप्त होने की तिथि से 12 महीने की अवधि के अंतर्गत आवास निर्माण कार्य पूर्ण करना होगा।
  • योजना को संचालित करने के लिए झारखण्ड के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सभी उपायुक्त और विकास आयुक्त को दिशा निर्देश दिए जा चुके हैं।
  • सभी उपायुक्त को अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करनी होगी।
  • पहचान करने के बाद सभी उपायुक्त को लाभार्थियों की सूची तैयार करके मुख्यालय भेजनी होगी।
  • आवास योजना के अंतर्गत पूर्वी सिंहभूम के पोटका प्रखंड सभागार में 35 लाख लाभुकों को स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।
  • इसी के साथ शौचालय, नि:शुल्क बिजली कनेक्शन, नि:शुल्क गैस कनेक्शन आदि की सुविधा भी प्रदान की जाएगी
  • लाभार्थियों को वित्तीय सहायता प्राप्त होगी जीवन स्तर में सुधार आएगा।

सर्वजन पेंशन योजना झारखंड

Bhimrao Ambedkar Awas Yojana पात्रता तथा मुख्य दस्तावेज

  • आवेदक को झारखण्ड का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक का मकान किसी प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त हुआ होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आयु प्रमाण पत्र

Jharkhand Baba Saheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana आवेदन प्रक्रिया

  • सभी उपायुक्त अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करेंगे।
  • पहचान करने के बाद लाभार्थी की सूची तैयार करेंगे।
  • यह सूची मुख्यालय में भेजी जाएंगी।
  • जिसके बाद सभी लाभार्थियों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन करने के बाद लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए राशि वितरित की जाएगी।

Leave a Comment