प्रधानमंत्री आवास योजना नई लिस्ट 2023 कैसे देखें | PM Awas Yojana New List

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना की गई थी। इस योजना के तहत निम्न आय एवं मध्यम आए वर्ग के लोगों को आवास निर्माण के लिए केंद्र सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। PM Awas Yojana का लाभ ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के परिवारों को मिल रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट के तहत केंद्र सरकार द्वारा 2022 तक 2 करोड़ से अधिक पक्के मकान एवं शौचालय की सुविधा प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। केंद्र सरकार द्वारा PMAY को सफल बनाने के लिए योजना से जुड़ी सभी सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध की गई है। यदि आपने भी प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन किया है और आप जानना चाहते हैं कि आपका नाम PMAY List में है या नहीं। इस लेख के माध्यम से आज हम आपको PM Awas Yojana New List 2023 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे इसलिए आपको यह लेख अंत तक पढ़ना होगा।

PM Awas Yojana New List

PM Awas Yojana New List 2023

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई केंद्र सरकारी योजना है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी दोनों क्षेत्रों के लिए है जो आर्थिक रूप से कमजोर है जिनके पास रहने के लिए कच्चे घर है या घर उपलब्ध नहीं है। नए घर के निर्माण या मरम्मत के लिए कमजोर और मध्यम आय वर्गों के लिए सरकार सब्सिडी प्रदान करती है। PM Awas Yojana के तहत राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की एक नई सूची जारी की गई है यदि आपने भी PM Awas Yojana New List 2023 हेतु आवेदन किया है और आपको मालूम नहीं कि आपके आवास प्रस्ताव स्वीकार हुआ है या नहीं। इसके लिए आप प्रधानमंत्री आवास योजना न्यू लिस्ट 2023 के द्वारा पता कर सकते हैं। आवेदन करते समय आपको एक रेफरेंस नंबर दिया जाता है उस रेफरेंस नंबर की सहायता से आप अपने पीएम आवास योजना का स्टेटस देख सकते हैं।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 

PM Awas Yojana New List Key Highlights

योजना का नामप्रधानमंत्री आवास योजना
शुरू की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा
कब शुरू हुई25 जून 2015 को
श्रेणीकेंद्र सरकार योजना
उद्देश्य2 करोड से अधिक घरों का निर्माण करना
लाभार्थीभारत के नागरिक
अधिकारिक वेबसाइटpmaymis.gov.in

प्रधानमंत्री आवास योजना नई लिस्ट का उद्देश्य

प्रधानमंत्री आवास योजना का उद्देश्य 2022 के अंत तक हर योग्य उम्मीदवारों को घर उपलब्ध कराना है। केंद्र सरकार का उद्देश्य समाज के कमजोर वर्गों को आवास निर्माण के साथ मरम्मत की सहायता एवं शौचालय की सुविधा प्रदान करना है। PM Awas Yojana की शुरुआत 25 जून 2015 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी। प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य शहरी एवं ग्रामीण लोगों को 2022 तक शहरी 2 करोड से अधिक घरों का निर्माण करना है ताकि देश में कोई भी नागरिक बिना घर के ना रहे। निम्न आय वर्ग, विधवा, ट्रांसजेंडर आदि वर्गों को भी इस योजना में शामिल किया गया है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति जैसे लोगों को भी घर उपलब्ध कराने में प्रधानमंत्री आवास योजना मदद करती है।

Affordable Rental Housing Scheme

PM Awas Yojana New List के लिए पात्रता

निम्न आय वर्ग के लिए

  • लाभार्थी के परिवार में पति पत्नी अविवाहित बेटियां या बेटे अवश्य होने चाहिए।
  • परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से 6 लाख के बीच होनी चाहिए।
  • परिवार की महिला सदस्य प्रॉपर्टी की सह-स्वामित्व होनी चाहिए।

मध्यम आय वर्ग के लिए

  • परिवार की महिला सदस्य प्रॉपर्टी की सह-स्वामित्व होनी चाहिए।
  • परिवार की वार्षिक आय 6 लाख से 12 लाख के बीच होनी चाहिए।
  • वयस्क सदस्य आय अर्जित करता है तो वह विवाहित हो या अविवाहित उसे अलग घर का सदस्य माना जाएगा।

PMAY New List आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मकान का नक्शा
  • मोबाइल नंबर
  • पक्का होने का प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र

Rural Housing Interest Subsidy Scheme

PM Awas Yojana New List में अपना नाम चेक करें

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भारत के ग्रामीण क्षेत्र दोनों क्षेत्रों के लिए आवास योजना की विभाग दो अलग-अलग लिस्ट जारी करता है। एक शहरी आबादी के नागरिक के लिए के लिए और दूसरी ग्रामीण आबादी के नागरिक के लिए। आप अपना नाम प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट 2023 में है या नहीं। नीचे बताए गए तरीके से पता कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना शहरी लिस्ट देखने का तरीका

PM Awas Yojana New List 2022
  •  
  • अब आपको Search Beneficiary ऑप्शन पर Search by Name के ऑप्शन को क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपने नाम के पहले तीन अक्षर दर्ज करने होंगे और Show के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर आ जाएगी।
  • अब आप अपना नाम और अन्य जानकारी लिस्ट में देख सकते हैं।

PM ग्रामीण आवास योजना रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ लिस्ट देखें

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको Stakeholders के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको इस सेक्शन में IAY PMAYG Beneficiary के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस पेज पर आपको अपना पंजीकरण नंबर दर्ज करना होगा।
प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट
  •  यदि आपके पास रजिस्ट्रेशन नंबर है। तो आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप रजिस्ट्रेशन नंबर से ग्रामीण लिस्ट देख सकते हैं।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट देखें (रजिस्ट्रेशन नंबर के बिना)

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको Stakeholders के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको इस सेक्शन में IAY PMAYG Beneficiary के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • यदि आपके पास रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है। तो आपको Advanced Search के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल जाएगा।
प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट
  • इस पेज पर आपको पूछी गई जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद Search के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आवास योजना की लिस्ट खुल जाएगी।
  • अब आप अपना नाम इस लिस्ट में चेक कर सकते हैं।

PMAY के तहत राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की नई लिस्ट

  • हरियाणा
  • हिमाचल प्रदेश
  • जम्मू एंड कश्मीर
  • झारखंड
  • कर्नाटका
  • केरला
  • मध्य प्रदेश
  • महाराष्ट्र
  • मणिपुर
  • मेघालय
  • मिजोरम
  • नागालैंड
  • दिल्ली एनसीटी
  • ओडिशा
  • पंजाब   
  • राजस्थान
  • अंडमान एवं निकोबार दीप समूह
  • आंध्र प्रदेश
  • मध्य प्रदेश   
  • असम
  • बिहार
  • चंडीगढ़
  • छत्तीसगढ़
  • दादरा व नगर हवेली
  • दमन व  दीव
  • गोवा
  • गुजरात
  • हरियाणा
  • हिमाचल प्रदेश
  • जम्मू एंड कश्मीर
  • मिजोरम
  • नागालैंड
  • उड़ीसा
  • पंजाब
  • राजस्थान
  • सिक्किम
  • तमिल नाडु
  • तेलगाना
  • त्रिपुरा
  • उत्तर प्रदेश
  • उत्तराखंड
  • पश्चिम बंगाल

Leave a Comment